दो गोदामों पर छापामारी में 250 करोड़ की दवाइयां जब्त

608
Medicine
Picture: Pixabay

आगरा। केंद्रीय नारकोटिक्स टीम ने आगरा के फ्रीगंज के दो गोदामों से 250 करोड़ रुपये कीमत की दवाइयां बरामद की है। इनमें 10 तरह की दवाएं और इंजेक्शन मिले हैं। जब्त दवाओं की रिपोर्ट तैयार कर इनमें से 80 दवाओं की जांच के लिए नमूने लिए गए हैं। जानकारी अनुसार, सेंट्रल ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स ग्वालियर की टीम ने 20 अक्टूबर को फ्रीगंज स्थित दो अवैध गोदामों पर छापा मारा था। गोदाम से दवाएं एकत्रित करने में टीम को दो दिन लगे। करीब 40 कट्टों में दवाएं भरकर टीम यहां से लेकर गई थी। इन दवाओं में सबसे महंगा एक इंजेक्शन है, जिनकी संख्या लगभग 85 हजार है। टीम की पड़ताल में जब्त दवाओं की कीमत 250 करोड़ रुपये आंकी गई है। यह दवाएं 10 कंपनियों की हैं। हर कंपनी की दवाओं के आठ-आठ नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। सहायक आयुक्त नारकोटिक्स अजय कुमार ने बताया कि फ्रीगंज से जब्त की दवाएं नकली हैं या फिर असली, इसकी जांच के लिए 80 नमूने प्रयोगशाला भेजे गए हैं।
जब्त की गई दवाएं मानसिक रोगों के इलाज में उपयोग की जाती हैं। दर्द निवारक इंजेक्शन भी हैं। इनमें इंजेक्शन की संख्या अधिक है। टीम की जांच में पाया कि इनका इस्तेमाल नशे के लिए किया जाता है। इसके चलते इनकी कालाबाजारी की जा रही है। आसपास के राज्यों तक इसकी सप्लाई थी।
नारकोटिक्स की पड़ताल में पांच दवा विक्रेताओं से भी इसके तार जुड़े हुए हैं। इसमें थोक दवा विक्रेता भी हैं। इनको टीम ने नोटिस दे दिया है, पूछताछ भी की गई है। इस मामले में अभी एक गिरफ्तारी हुई है।