हरियाणा: 26 एमटीपी किट, नशे की दवाई बरामद, मेडिकल स्टोर सील

Medical store at Faridabad sealed for illegally stocking medical intoxicants and MTP kits

1044
FDA Haryana
FDA Haryana

फरीदाबाद। हरियाणा खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने आज नशे के खिलाफ अपने अभियान को गति देते हुए नशे की दवाई एवं प्रतिबंधित गर्भपात दवाओं की बिक्री करने वाले एक मेडिकल स्टोर को सील किया

मेडिकल स्टोर से से भारी मात्रा में नशे की दवाई एवं गर्भपात करने में प्रयोग की जाने वाली एमटीपी किटे बरामद की हैं।

Sealed

इस विषय में अधिक जानकारी देते हुए खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के वरिष्ठ औषधि नियंत्रक अधिकारी करण गोदारा ने बताया कि उनको शिकायत मिल रही थी कि नंगला रोड भड़ाना चौक स्थित मोहित मेडिकल स्टोर इन दिनों नशीली दवाओं तथा गर्भपात में प्रयोग की जाने वाली एमटीपी किट का व्यापार कर रहा है

जिस पर उन्होंने क्षेत्र की औषधि निरीक्षक अधिकारी पूजा चौधरी को साथ लिया तथा मोहित मेडिकल स्टोर पर छापा मारा तो उनको वहां पर भारी मात्रा में एमटीपी किट तथा नशीली दवाएं मिली।

येँ भी पढ़ें : एफ डी ए हरियाणा: 48 लाख के परफ्यूम मामले मे दिया नोटिस

उन्होंने इन सभी प्रतिबंधित दवाओं को कब्जे में लेकर मेडिकल स्टोर को सील कर दिया।

श्री गोदारा ने बताया कि मोहित मेडिकल स्टोर से गर्भपात में प्रयोग की जाने वाली 26 एमटीपी किट तथा भारी मात्रा में अल्प्राजोलम टेबलेट तथा ट्रामाडोल कैप्सूल बरामद हुई हैं जो की हरियाणा सरकार ने खुले बाजार में बेचने के लिए प्रतिबंधित की हुई हैं क्योंकि इन दवाओं का प्रयोग नशे के लिए किया जाता है।

गोदारा ने बताया कि सभी एमटीपी किट और नशीली दवाओं को कब्जे में लेकर ड्रग एक्ट के तहत कार्रवाई शुरू कर दी गई है तथा एहतियात के तौर पर मेडिकल स्टोर को सील कर दिया गया है।

उन्होंने बताया की औषधि नियंत्रक विभाग नियमित रूप से सरकार द्वारा प्रतिबंधित नशीली दवाओं एवं गर्भपात में प्रयोग की जाने वाली दवाई व अन्य सामान की बिक्री के खिलाफ अभियान चलाए हुए हैं

जिस किसी के पास भी यह प्रतिबंधित दवाएं या समान मिलता है उनके खिलाफ न केवल ड्रग एक्ट के तहत कार्रवाई की जाती है बल्कि नशीली दवाएं बेचने का एक आरोपी जिसको विभाग ने पांच नंबर से गिरफ्तार कराया था आज भी जेल में है।

येँ भी पढ़ें : एफ डी ए हरियाणा: दो तस्करों सहित लाखों की नशीली दवाएं बरामद

गोदारा ने बताया कि हरियाणा सरकार के स्पष्ट निर्देश है कि किसी भी कीमत पर नशीली दवाओं का कारोबार नहीं होने दिया जाएगा और खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग सरकार के इन आदेशों को लागू करने के लिए वचनबद्ध है

कोई भी यदि नियम व कानून की अवहेलना करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।