शहर में दवा दुकानों पर औचक निरीक्षण, सैंपल लिए

Inspections at many medical stores at Rohtak, samples withdrawn

1193
FDA

रोहतक। ड्रग कंट्रोलर विभाग ने स्थानीय बस स्टैंड के आसपास तीन दवा दुकानों पर औचक निरीक्षण किया ।

रोहतक के ड्रग कंट्रोल ऑफिसर मनदीप मान के अनुसार जांच के दौरान दुकानों पर कईं खामियां मिली।

इनके लिए लाइसेंसिंग अथॉरिटी द्वारा स्टोर संचालकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। रेड के दौरान देव व तिरुपति दुकान पर फार्मासिस्ट नहीं मिले।

ड्रग्स एक्ट का उल्लंघन करने पर इनको भी नोटिस भेजा जाएगा।

ड्रग कंट्रोल ऑफिसर ने बताया कि दोपहर के समय एक युवा को तीन अलग-अलग दवा दुकानों पर भेजा।

युवक ने तीनों जगह जाकर सेना भर्ती के लिए स्टेमिना बढ़ाने का इंजेक्शन मांगा, लेकिन किसी ने भी इंजेक्शन उपलब्ध होने की बात नहीं की।

येँ भी पढ़ें : रजिस्ट्रार की नियुक्ति, फार्मासिस्टों को मिलेगी राहत

इसके बाद ड्रग कंट्रोल ऑफिसर ने दुकान पर दवाओं को साढ़े पांच बजे तक चेक किया लेकिन स्टेमिना बढ़ाने वाली दवाइयां नहीं मिल सकी। दुकानों में बिल बुक, दवा रजिस्टर, परचेज ऑर्डर चेक किया गया।

बिल बुक में डॉक्टर, दवा और खरीदार के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। दवा रजिस्टर भी मेंटेन नहीं मिला।

परचेज ऑर्डर में भी यह कुछ नहीं लिखा गया कि कितनी दवा कब ली है कितनी बिकी है। लाइसेंसिंग अथॉरिटी द्वारा इनको कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है।

जिला ड्रग कंट्रोल ऑफिसर ने दस दुकानों से अलग-अलग दवाओं के रेंडम सैंपल भरे।

इसमें दो फार्मेसी की दुकान से चार-चार व विश्वास दुकान से दो रेंडम सैंपल लिए।

येँ भी पढ़ें : भ्रूण लिंग जांच में 4 गिरफ्तार: गुरुग्राम

इन सैंपल को जांच के लिए चंडीगढ़ लैब में भेजा गया है। जहां से करीब एक माह में रिपोर्ट आएगी।

रोहतक के ड्रग्स कंट्रोलर ऑफिसर मंदीप मान ने बताया कि शहर में आर्मी भर्ती को देखते हुए स्टेडियम व बसस्टैंड के आसपास की तीन दुकानों पर रेड की है।

जहां स्टेमिना के इंजेक्शन व अन्य नशीली दवा तो नहीं मिली, लेकिन ड्रग्स एक्ट का उल्लंघन मिला।

तीनों दुकानों से दस दवाओं के सैंपल भी लिए हैं।