100 एकड़ में बनेगा मेडिकल डिवाइस पार्क

Medical device part will be built at Haridwar with the help of Japan

948
Pharma Factory
Picture: Pixabay

देहरादून (उत्तराखंड)। हरिद्वार में मेडिकल डिवाइस पार्क बनाने की सहमति मिल गई है। सिडकुल के पास सौ एकड़ जमीन पर बनने वाले पार्क को जापान की मदद से विकसित किया जाएगा।

जापान से लौटे मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि जापान ने पार्क को विकसित करने में रुचि दिखाई है। राज्य के अधिकारी विशाखापट्टनम के मेडिकल डिवाइस पार्क का मुआयना कर चुके हैं।

इसी तर्ज पर यह पार्क बनाया जाएगा। मुख्य सचिव के अनुसार जापान इंटरनेशनल कारपोरेशन एजेंसी (जायका) ने हार्टीकल्चर और देहरादून-हरिद्वार मेट्रो लाइट सिस्टम में सहयोग का भरोसा दिया है।

मेक इन इंडिया के तहत केंद्र सरकार ने मेडिकल डिवाइस पार्क को मंजूरी दी है। ऐसे पार्कों में विश्वस्तरीय मेडिकल उपकरण सिरिंज, ड्रिप्स, इंप्लांट, सर्जिकल उपकरण, एमआरआई व अल्ट्रासाउंड मशीन आदि सस्ती कीमत पर बनाए जाते हैं।

येँ भी पढ़ें  : कार पलटने पर दवा तस्कर काबू, 53 हजार टेबलेट जब्त

देश में अभी तक आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और केरल में ही मेडिकल डिवाइस पार्क हैं। अब हरिद्वार में मेडिकल डिवाइस पार्क बनाए जाने के कई फायदे होंगे।

इससे उत्तराखंड में निवेश बढ़ेगा, रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे, आर्थिक गतिविधियां बढ़ेंगी, इलाज के लिए उपकरण सस्ते मिलेंगे।

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह का कहना है कि जापान ने उत्तराखंड में मेडिकल, एग्रो प्रोसेस के क्षेत्र में निवेश में रुचि दिखाई है। हरिद्वार में प्रस्तावित मेडिकल डिवाइस पार्क में जापान की तकनीक उपयोग में लाई जाएगी।

पर्यटन को लेकर भी जापानी प्रतिनिधियों के बात हुई। मई में जापान के टूर ऑपरेटर उत्तराखंड का दौरा कर सकते हैं।