पीजीआई के बाहर एमटीपी किट बेचती सुपरवाइजर गिरफ्तार

Supervisor arrested selling MTP kits in front of PGI Rohtak

1462
Police Arrest
Picture: Pixabay

Last Updated on February 22, 2020 by The Health Master

रोहतक। पीजीआई रोहतक के जच्चा-बच्चा वार्ड के बाहर आउट सोर्स पर लगी महिला सुपरवाइजर को अवैध तरीके से एमटीपी किट बेचते पकडऩे का मामला सामने आया है।

आरोपी महिला रेखा बल्हारा को पीजीआईएमएस थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया है।

महिला यह किट कहां से लाई, इसकी पूछताछ की जा रही है।

झज्जर सिविल सर्जन को मिली गुप्त सूचना के आधार पर दोनों जिलों झज्जर व रोहतक की स्वास्थ्य विभाग व दोनों जिलों के FDA अधिकारी भी पीजीआईएमएस रोहतक पहुंची।

येँ भी पढ़ें  :  FDA हरियाणा की नशे के खिलाफ कार्यवाई, मेडिकल स्टोर सील

टीम मे दोनों जिलों के ड्रग कंट्रोल ऑफिसर मंदीप मानसंदीप हूड़ा भी शामिल थे

रोहतक से मंदीप मान ने बताया कि डॉ. ममता वर्मा को फर्जी ग्राहक बनाकर किट खरीदने के लिए 500 के दो नोट दिए गए।

इसके बाद डॉ. ममता ने योजना अनुसार कमला नगर निवासी आउटसोर्सिंग पर लगी सुपरवाइजर रेखा बल्हारा से संपर्क किया। 1000 रुपये लेकर जब रेखा ने एमटीपी किट दी तो उसे स्वास्थ्य विभाग की टीम ने धर दबोचा।

टीम को महिला के बैग से डॉ. ममता वर्मा के दिए 500-500 के दो नोट भी बरामद किए। टीम ने पुलिस बल बुलाकर महिला को पुलिस के हवाले कर दिया।

मंदीप मान ने बताया कि FDA टीम ने बाकी बची सभी एमटीपी किट ड्रूग एक्ट के तहत जप्त कर ली है और इन दवाइयों को कोर्ट मे पेश किया काएगा