कोरोना से निपटने के लिए FDA हरियाणा की कार्यप्रणाली की चर्चा विदेशों तक

FDA Haryana in news of foreign media for action taken by its officers during coronavirus breakdown.

1055
FDA Haryana
FDA Haryana

कोरोना से निपटने के लिए FDA हरियाणा की कार्यप्रणाली की चर्चा विदेशों तक

गुड़गांव: कोरोना काल से निपटने के लिए कई देश भारत का मुंह ताक रहे है, वहीं FDA हरियाणा के गुड़गांव के एक औषधी नियंत्रण अधिकारी की कार्यप्रणाली की चर्चा भी इन दिनों विदेशों में खूब हो रही है। विदेशी मीडिया ने गुड़गांव पहुंचकर गत दिनों औषधी नियंत्रण अधिकारी के साथ एक लाइव रेड में हिस्सा लिया था। फ्रांस मीडिया का एक प्रसिद्ध टीवी चैनल इनकी कार्यप्रणाली का इतना कायल हुआ कि यूरोप के कई देशों में इस रेड का टैलीकास्ट किया। साथ ही पूरी दुनिया में भारत के स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली को अन्य देशों से बेहतर बताया। 

– गुड़गांव के औषधि नियंत्रण अधिकारी की कार्यप्रणाली की दुनिया हुई कायल
– विदेशी मीडिया में भी प्रसिद्धी हासिल कर बनाया नया किर्तीमान 
– महामारी से निपटने के लिए हर जरूरी चीजों की कालाबाजारी पर लगाई रोक
– हजारों लीटर सैनिटाइजर,थर्मल गन,ग्लब्स और फेस मास्क को बंद गोदामों से निकालकर आम लोगों तक पहुंचाए

येँ भी पढ़ें  : चीन भेजे जा रहे थे मास्क, PPE किट, कस्टम ने किया…

हम बात कर रहे है गुड़गांव के औषधी नियंत्रण अधिकारी अमनदीप चौहान की। चौहान इस महामारी से निपटने के लिए कई महीनों से लगातार काम कर रहे है। कोरोना के शुरूआती दिनों में जब मार्केट से फेस मास्क,सैनिटाइजर,ग्लब्स और तापमान मापने वाले थर्मल गन की शॉर्टऐज हुई थी तभी से लगातार गोदामों में रेड कर इन्हें आम जन तक पहुंचाने के लिए मार्केट में उपलब्ध करवा रहे है।

कार्रवाई

सर्जिकल मास्क,ट्रिपल लेयर मास्क,एन-95 मास्क को दुकानों में तय रेट पर बेचने के आदेश भी इन्होंने ही जारी करवाए। अमनदीप चौहान बताते है कि महामारी के शुरूआती दिनों में ही प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इस बीमारी से लड़ने में उपयोग होने वाली जरूरी चीजों को तय रेट में ही आमजन तक पहुंचाने के आदेश अधिकारियों को दिए थे।

आदेशों की पालना करते हुए जमा खोरी पर शिकंजा कसना शुरू किया। शहर में काफी दिनों से इस पद की जिम्मेदारी संभाली है जिसके चलते अधिकतर एरिया के लोग निजी तौर पर जानते है। लोग खुद ही तय रेट से ज्यादा बिकने वाली वस्तुओं की सूचना विभाग को देते है। इसी के साथ विभाग ने अपने स्तर पर लोगों की मदद से कालाबाजारी करने वाले माफियाओं पर पकड़ बनाई। पिछले दिनों मानेसर स्थित एक कंपनी में हजारों की संख्या में थर्मल गन रखे हुए थे।

ड्रग कंट्रोल डिपार्टमेंट की टीम ने स्थानीय पुलिस की मदद से तय रेट पर स्वास्थ्य विभाग को मुहैया करवाया। इसके अलावा पटौदी के गांव पहाड़ी में पिछले दिनों रेड कर नकली सैनिटाइजर बनाने वाली कंपनी पर कार्रवाई की थी। जहां से करीब 4 हजार लीटर नकली सैनिटाइजर जब्त किया। इसी तरह सुशांत लोक के एक मकान में अवैध रूप से रखे लाखों सैनिटाइजर,मास्क जब्त कर लोकल मेडिकल स्टोर संचालकों को तय रेट पर बेचने के लिए मुहैया करवाए।

The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.