स्वास्थ्य विभाग के छापे में भ्रूण लिंग जांच करता एक गिरफ्तार

Punjab health department caught one doing sex determination.

626
PNDT MTP Ultrasound
Picture: Pixabay

स्वास्थ्य विभाग के छापे में भ्रूण लिंग जांच करता एक गिरफ्तार

लुधियाना। गुरदासपुर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लुधियाना के जमालपुर एरिया में साईं क्लीनिक पर छापेमारी करते एक आरोपी को काबू कर लिया। आरोपी भ्रूण लिंग जांच का काम कर रहा था। गुरदासपुर स्वास्थ्य विभाग की टीम इस आरोपी को 20 दिन से ट्रैक कर रही थी। आज यह उनकी गिरफ्त में आ गया। सिविल सर्जन गुरदासपुर डॉक्टर किशन चंद इस टीम की खुद अगुवाई कर रहे थे।

आरोपी से पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन बरामद कर मुंडिया चौकी को सौंप दिया गया है। गुरदासपुर सिविल सर्जन डॉक्टर किशन चंद ने बताया कि साईं क्लीनिक का संचालक राकेश कुमार भ्रूण लिंग जांच करने का काम काफी दिनों से कर रहा था। इसका नेटवर्क अमृतसर और गुरदासपुर एरिया में भी था। इसकी शिकायत उनके पास भी पहुंची तो उनकी टीम ने इसे काबू करने की कोशिश की। हर बार किसी तरह यह गिरफ्त में नहीं आ रहा था। आखिरकार उन्होंने दो महिलाओं को तैयार किया। आरोपी राकेश कुमार के साथ फोन पर संपर्क किया गया। दोनों महिलाओं ने भ्रूण लिंग जांच करवाने की बात की। उक्त आरोपी ने उन्हें सुबह पांच बजे बात करने के लिए कहा।

येँ भी पढ़ें  : सब्जी में छिपाकर फैंसीडिल की तस्करी, दो गिरफ्तार

तय समय पर महिलाओं ने उससे फोन पर संपर्क किया। पहले उसने होशियारपुर के पास किसी जगह आने के लिए कहा। कुछ समय बाद उन्हें लुधियाना आने के लिए कहा। जैसे ही वह लुधियाना पहुंचे तो आरोपी ने उन्हें जमालपुर स्थित साईं क्लीनिक पहुंचने के लिए कह दिया। क्लीनिक पर पहुंचते ही दोनों महिलाएं अंदर चली गईं तो आरोपी ने उनसे दस हजार रुपये की मांग की। उसी समय उनकी टीम पुलिस पार्टी के साथ क्लीनिक के अंदर पहुंच गई और आरोपी को काबू कर लिया। आरोपी के पास एक पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन बरामद की गई है।

इसका इस्तेमाल वह भ्रूण लिंग जांच करने के लिए करता था। वही उसकी डिग्री के बारे में अलग से जांच होगी। उधर पुलिस चौकी मुंडिया प्रभारी सब इंस्पेक्टर हरभजन सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग टीम की कार्रवाई के बाद आरोपी राकेश कुमार को हिरासत में ले लिया गया है। अब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी लिखित में शिकायत दे रहे हैं। शिकायत के अनुसार ही आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.