घर में जरूर रखें फर्स्ट ऐड किट, होंगे ये 5 बड़े फायदे

Keep first aid kit at home for 5 big benefits

373
Medicine
Picture: Pixabay

Last Updated on January 17, 2021 by The Health Master

घर में जरूर रखें फर्स्ट ऐड किट, होंगे ये 5 बड़े फायदे

मान लीजिए अगर परिवार का कोई सदस्य सीढ़ियों से उतरते समय गिर जाता है और उसे उचित चिकित्सीय इलाज (Treatment) लेने से पहले दर्द कम करने के लिए तुरंत चिकित्सा की जरूरत होगी.

ऐसी स्थिति से कैसे निपटेंगे? दुर्घटना (Accident) या तबीयत का बिगड़ना कुछ भी हो, यह पलक झपकते हो सकता है और तब जब इसकी कभी उम्मीद न हो. विशेष रूप से जब घर पर बच्चे (Kids) होते हैं. वे दुर्घटनाओं और कुछ चिकित्सीय स्थितियों के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं.

आपातकालीन स्थितियों में प्राकृतिक चिकित्सा यानी फर्स्ट ऐड (First Aid) की जरूरत होती है. प्राथमिक चिकित्सा का मतलब है चोट लगने के बाद व्यक्ति को अस्पताल ले जाने से पहले किए जाने वाला सहायक इलाज.

फर्स्ट ऐड पूर्ण चिकित्सा नहीं होती, लेकिन इससे अस्पताल ले जाने के लिए मरीज की स्थिति को बेहतर किया जा सकता है. अस्पताल ले जाते समय या मदद का इंतजार करते वक्त किसी व्यक्ति को फर्स्ट ऐड देने से जान बच सकती है.

ऐसी परिस्थितियों में घर पर फर्स्ट ऐड किट रखना जीवनदायी हो सकता है. वरना पीड़ित व्यक्ति के अस्पताल पहुंचने से पहले स्थिति बिगड़ सकती है. तैयार रहना और अपने घर में फर्स्ट ऐड किट रखना जीवन बचा सकता है.

येँ भी पढ़ें  : स्वास्थ्य सम्बन्धी अन्य आर्टिकल पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

यह मायने नहीं रखता है कि घर में किस उम्र के लोग रह रहे हैं. घर में फर्स्ट ऐड किट होना किसी चोट या दुर्घटना की गंभीरता को कम करने में मदद कर सकता है. डॉ. मेधावी अग्रवाल का कहना है कि फर्स्ट ऐड किट घर पर बनाई जा सकती है.

इस किट में विभिन्न प्रकार के आइटम शामिल होने चाहिए जो कि कट, खरोंच, मोच, चोटों, जलन सहित विभिन्न प्रकार की बीमारियों के लिए इलाज में मदद करें. फर्स्ट ऐड किट के अंदर आवश्यक वस्तुओं में मलहम, एंटीसेप्टिक वाइप्स, कॉटन वूल, क्लीन ड्रेसिंग, ग्लव्स, बैंडेज और कई जरूरी चीजें शामिल होना चाहिए.

चिकित्सीय सहायता पहुंचने से पहले जरूरी मदद

यह जानना महत्वपूर्ण है कि फर्स्ट ऐड ट्रीटमेंट किसी को भी पूरी तरह से ठीक करने के लिए नहीं है, बल्कि चिकित्सा सहायता मिलने से पहले पीड़ित को बेस्ट ट्रीटमेंट देना है.

मेडिकल इमर्जेंसी के लिए तैयार रहने के लिए पहला कदम फर्स्ट ऐड किट होना है. किसी भी आइटम के इस्तेमाल हो जाने पर किट में नियमित रूप से रिप्लेस करें. इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि सब कुछ एक्सपाइरी डेट के अंदर हों.

संक्रमण कम करता है

खुले घावों से लेकर चोटों तक के लिए आवश्यक प्राथमिक उपचार देने से गंभीरता को कम किया जा सकता है. घर की फर्स्ट ऐड किट की सामग्री एक जीवन रक्षक हो सकती है और संक्रमण के जोखिम और चोट की गंभीरता को कम करने में मदद कर सकती है.

यह जान बचा सकती है

फर्स्ट ऐड किट होने का सबसे स्पष्ट कारण है कि यह किसी की जान बचा सकती है. समय पर प्राथमिक चिकित्सा मिलने और फिर समय पर अस्पताल पहुंचाने पर किसी की जिंदगी बचाई जा सकती है. हालांकि, गंभीर दुर्घटनाओं और मामलों में त्वरित प्राथमिक चिकित्सा काम नहीं कर सकती है.

रिकवरी टाइम कम करता है

मेडिकल हेल्प पहुंचने से पहले बीमारी या चोट की त्वरित प्रतिक्रिया से न केवल जान बचती है, बल्कि यह पीड़ित व्यक्ति के रिकवरी के समय को भी कम कर सकता है.

ज्यादा खून बहने से रोकता है

क्या होता है जब घर में किसी को गलती से एक गहरा कट लग गया हो खूब खून बह रहा हो. फर्स्ट ऐड किट उपलब्ध होने से आवश्यक चिकित्सा मिल सकती है जिससे उचित चिकित्सा सहायता उपलब्ध होने से पहले खून के बहाव को रोका जा सकता है.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए The Health Master जिम्मेदार नहीं होगा।


The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.

Follow and connect with us on Facebook and Linkedin

Go to main website, click here

Subscribe for daily free updates, click here

Subscribe here for daily updates
Loading