Joint team ने गर्भ जांच गिरोह को किया काबू

Joint team overcomes pregnancy screening gang

114
PNDT MTP Ultrasound
Picture: Pixabay

पंजाब में संगरुर के पास धुरी कस्बे में स्थित अल्ट्रासाउंड सैंटर में चल रहे गर्भ जांच गिरोह का अम्बाला व कुरुक्षेत्र स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम ने भंडाफोड़ किया है। शहर की जंडली निवासी महिला द्वारा एक डिकोड की जांच करवाई जानी थी जिसके लिए 45 हजार रुपए में सौदा तय किया था।

बतादे कि क्लिनिक में अल्ट्रासाउंड होने के बाद महिला मरीज से 30 हजार रुपए बकाया राशि लेकर उसे गर्भ में लड़की होने की बात बताई। इसके बाद एजैंट महिला व आशावर्कर को साथ लेकर अम्बाला आ रहे थे लेकिन यहां पहुंचते ही दोनों जिलों की संयुक्त टीम ने पुलिस की मदद से उन्हें पकड़ लिया। एजैंटों से मौके पर ही 30 हजार रुपए भी रिकवर कर लिए और उन्हें बाद में शहर के सदर थाने में लाया गया।

पूछताछ करने पर पता चला कि जसदेव सिंह सेना से रिटायर्ड है और उसके बेटे तरणजीत सिंह की पत्नी प्रदीप कौर पंजाब पुलिस में कांस्टेबल लगी हुई है। क्लिनिक संचालक भी प्रदीप कौर का ही जानकार था और उसके जरिए ही अल्ट्रासाउंड की बात डॉक्टर के साथ होती थी।

येँ भी पढ़ें  : बेहद हानिकारक है स्वास्थ्य के लिए ‘Sanitisation tunnel’

सदर थाने में कुरुक्षेत्र निवासी सेना से रिटायर्ड जसदेव सिंह, उसका बेटा तरणजीत सिंह, पंजाब पुलिस की कांस्टेबल बहू प्रदीप कौर व जंडली निवासी सुनीता के खिलाफ पी.एन.डी.टी. के तहत केस दर्ज किया गया है। तरणजीत व प्रदीप कौर को अभी गिरफ्तार किया जाना है लेकिन जसदेव व सुनीता को पुलिस ने गिरफ्तार करके उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

सुनीता रानी अम्बाला शहर के प्राईवेट क्लिनिक में नौकरी करती थी। महिला व एक अन्य व्यक्ति डिकोय को साथ लेकर पहले पटियाला तो फिर बाद में संगरुर के पास क्लिनिक में लेकर गए। वहां जांच के बाद मरीज को लड़की होने की बात बताकर 30 हजार रुपए भी ले लिए। वापस आते समय टीम ने पुलिस के साथ शहर में दोनों एजैंटों को हिरासत में ले लिया।

The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.