Walking: किस उम्र में कितनी Walk सही

Walking: How Much Walk Is Right At which Age

465
Health walking
Picture: Pixabay

Last Updated on January 19, 2021 by The Health Master

Walking: चलना आपके पूरे शरीर के लिए बेहतर है। सिर्फ 30 मिनट की वॉकिंग आपके दिल को हेल्दी बनाने के साथ, मांसपेशियों में मजबूती बनाए रखती है (walking benefits)। इससे दिल की बिमारी (Heart disease), टाइप 2 मधुमेह (Type 2 diabetes), ऑस्टियोपोरोसिस और कुछ कैंसर जैसे खतरे को कम करती है।

अगर आप रोज वॉकिंग करते हैं तो आपको अन्य व्यायाम की जरूरत नहीं पड़ेगी। कुछ आंकड़े बताते हैं कि महिलाओं के मुकाबले पुरुष अधिक चलते हैं। आपको याद होगा कि जब आप बच्चे थे, तो आपको स्वास्थ्य से जुड़ी बड़ी परेशानियां नहीं होती थीं।

इसका कारण यह है कि बच्चे सारे दिन ही एक्टिव रहते हैं। जबकि बड़े होने के बाद टाइम कम है का बहाना बनाकर लोग पैदल चलने से कतराते हैं।

अपने रोजमर्रा के कामों में पैदल चलना, सीढ़ी चढ़ना, कोई खेल खेलना, स्विमिंग या साइकिलिंग करना आदि आदतें शामिल करके आप ज्यादा स्वस्थ रह सकते हैं।

आइए आपको बताते हैं पैदल चलने के फायदों के बारे में थोड़ा और विस्तार से।

walk

येँ भी पढ़ें  : 3 Worst Drinks For Diabetics: डायबिटीज रोगी ना पिए ये ड्रिंक्स


किस उम्र में कितनी वॉक सही (Walking Guide)

वॉक करना हर उम्र के लिए फायदेमंद है। बात 5 साल से 60 साल तक की एज ग्रुप की हो तो ये जानना सबसे ज्यादा जरूरी है, कि कौन सी उम्र के महिला, पुरुष और बच्चों को कितना चलना चाहिए।5 से 18 साल तक- अगर आपकी उम्र 5 साल से 18 साल के बीच है तो आपको 16 हजार से कदम चलना चाहिए। वहीं लड़कियां 13 हजार तक के कदम चल सकती हैं।

– 19 से 40 साल तक- अगर आपकी उम्र 19 से 40 साल के बीच है तो इस उम्र के पुरुष और महिलाओं को उन्हें एक दिन में 13 हजार से ज्यादा कदम चलने चाहिए।
– 40 साल के पार- वहीं अगर बात 40 साल के बाद के लोगों की करें तो उनके लिए 12 हजार कदम आदर्श माने जाते हैं।
– 50 साल तक- अगर आपकी उम्र 50 साल के पार है तो आपको हर रोज 9 हजार से 10 हजार तक के कदम चलने चाहिए।
– 60 साल से ज्यादा- अगर आपकी उम्र 60 साल के पार है तो, ऐसे में आपको स्वस्थ्य रहने के लिए हर रोज 7 हजार से 8 हजार कदम चलने चाहिए। यहां पर आप इस बात का ख्याल रखें की उम्र के एक पड़ाव में आने के बाद आप सिर्फ उतना ही चलें जितना आपको थकान ना लगे।

जानें वॉक करने के फायदे (Health Benefits of Walk)

वॉक करना या दौड़ना दोनों ही शरीर के लिए फायदमंद है। इससे ब्लड सरकुलेशन (Blood circulation) सही रहता है। जिससे दिल से जुड़ी बिमारी और ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है। इसके अलावा स्ट्रोक, मधुमेह, मोटापा, डिप्रेशन, कैंसर जैसी समस्या नहीं होती। उम्र कोई भी हो, हर उम्र में फिट रहने के लिए बिमारियों से निजात तभी मिलेगा जब आप वॉक करेंगे।

कैलोरी जलाने में सहायक (Burn Calories):

हालांकि शरीर की कैलोरी जलने की मात्रा आपके चलने के तरीके, दूरी व वजन जैसे कारकों पर निर्भर करती है। लेकिन शरीर की फालतू चर्बी को घटाने का आसान तरीका है।

आपके हृदय के स्वास्थ्य के लिए जरूरी (For Healthy Heart):

शोध से पता चला है कि प्रति दिन 30 मिनट की वाॅक हर सप्ताह 5 दिन तक करने से आपका ह्दय स्वस्थ रहता है।

शुगर कंट्रोल होती है (Sugar control):

प्रतिदिन आधा घंटा वॉक करने से आपका शुगर लेवल कम होता है।

मानसिक स्वास्थ्य सही रहता है (For Mental health):

यदि आप रोज सही से आधे घंटे वह करते हैं तो आपका मानसिक स्वास्थ्य सही रहता है जिसकी वजह से आपका मूड भी अच्छा रहता है।

प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है( Strong Immunity):

नियमित रूप से आप किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचते हैं और आपकी इम्युनिटी बढ़ती है।


स्वास्थ्य सम्बन्धी अन्य आर्टिकल पढने के लिए यहाँ क्लिक करे


कैसा हो वॉक का तरीका (How to Perform)

5 साल से 60 साल तक की उम्र में कई बदलाव होते हैं। खड़े होने से लेकर वॉक करने तक में कई बड़े बदलाव होते हैं। फिर वो बच्चे हों, महिला हों, या पुरुष हों। आज हम आपको वॉक को लेकर कुछ ऐसी टिप्स बताएंगे जो, जो हर उम्र में काम आएंगी।

खड़े होने का तरीका- वॉक करते समय आपको खड़े रहने की पोजीशन पर भी ध्यान देना होगा। झुककर खड़े होने से पीठ में तकलीफ बढ़ सकती है। इसलिए सबसे पहले स्ट्रेट खड़े होने की कोशिश करें।

हाथों की पोजिशन भी जरूरी- जब भी वॉक करें अपने हाथों को खुला छोड़ दें। हाथ बांधकर चलने से आपको वॉक करने का फायदा नहीं मिलेगा। और कंधों में परेशानी भी शुरू हो सकती है।

तय करें लक्ष्य- उम्र कोई भी हो, जब भी आप वॉक करें, उसका लक्ष्य जरुर निर्धारित करें। हर रोज 25 से 30 मिनट की वॉक सेहतमंद होगी।

जैसे-जैसे उम्र बढती है, वैसे-वैसे एनर्जी लेवल भी कम होने लगता है। एक स्वस्थ्य शरीर के उम्र के लिहाज से कदम चलना जरूरी है। बात किसी 5 साल के बच्चे की करें या 60 साल के बुजुर्ग की। उनके द्वारा चले गये कदमों से मांसपेशियों में तनाव कम होता है। वॉक आपका जीवन बढ़ा सकती है। इसलिए वॉक करने से हमेशा निरोगी और स्वस्थ्य रहिये।

By Monika Agarwal


The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.

Follow and connect with us on Facebook and Linkedin

Go to main website, click here

Subscribe for daily free updates, click here

Subscribe here for daily updates
Loading