Processed Food: प्रोसेस्ड फूड के ये हैरान करने वाले नुक्सान

यह तो सबको मालूम है कि प्रोसेस्ड फूड (Processed Food) हेल्थ के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं होता और हमें इसे कम से कम खाने की कोशिश करनी चाहिए.

83
Food Meal
Picture: Pixabay

Processed Food: प्रोसेस्ड फूड के ये हैरान करने वाले नुक्सान

आज के समय में सबसे ज्यादा जरूरी शारीरिक (Physically) और मानसिक (Mentally) रूप से स्वस्थ रहना है. खुद को हेल्दी रखने के लिए एक अच्छी लाइफस्टाइल और हेल्दी फूड्स का सेवन बहुत ही जरूरी हैं.

जिन चीजों का हम सेवन करते हैं वह न केवल हमें हेल्दी और फिट रखते हैं बल्कि हमें हर काम को सही तरीके से करने के लिए सक्षम भी बनाते हैं.

Doctors

डॉक्टरों की मानें तो इस बात का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है कि हम क्या खा रहे हैं और कैसे खा रहे हैं.

यह तो सबको मालूम है कि प्रोसेस्ड फूड (Processed Food) हेल्थ के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं होता और हमें इसे कम से कम खाने की कोशिश करनी चाहिए. 

कई लोग प्रोसेस्ड फूड खाना काफी पसंद करते हैं जिनमें पिज्जा, बर्गर, शुगर युक्त स्नैक्स, केक आदि शामिल हैं.

American Journal of Clinical Nutrition में पब्लिश एक जर्नल के मुताबिक शुगर और प्रिजरवेटिव्स युक्त इन अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड्स को खाने से हार्ट संबंधी रोगों का खतरा बढ़ रहा है.

सिर्फ इतना ही नहीं जर्नल के मुताबिक इनका सेवन करने से समय से पहले मौत (Premature Death) की संभावना भी बनी रहती है.


स्वास्थ्य सम्बन्धी अन्य आर्टिकल पढने के लिए यहाँ क्लिक करे


Report

इंसाइडर की एक रिपोर्ट के अनुसार इटली के शोधकतार्ओं के एक ग्रुप ने 35 वर्ष और उससे अधिक उम्र के 24,325 पुरुष और महिलाओं की लाइफस्टाइल को 10 साल तक फॉलो किया और कुछ आंकड़े इकट्ठा किए.

इसमें उन पुरुष और महिलाओं की खाने की आदतें और हेल्थ का विवरण मौजूद था.

इस रिपोर्ट से पता चला कि जिन लोगों ने अधिक मात्रा में अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन किया था उनमें कार्डियोवास्कुलर रोग, हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा अधिक दिखाई दिया, जबकि प्रोसेस्ड फूड का सेवन न करने वालों में यह खतरा कम था.

जिन प्रतिभागियों ने अधिक अनहेल्दी खाना खाया, उन्हें अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड के रूप में अपने दैनिक कैलोरी का कम से कम 15 प्रतिशत ही प्राप्त हुआ.

प्रोसेस्ड फूड का सेवन करने पर एक दिन में 300 से 1250 कैलोरी शरीर इनटेक करता है. यह हॉट डॉग, कैंडी बार, सोडा और इस तरह के दो से आठ सर्विंग्स के बराबर ही है.

इस प्रकार, उस श्रेणी के लोगों को अपने दूसरे साथियों की तुलना में हृदय रोग से मरने की संभावना 58 प्रतिशत अधिक थी, जो कम से कम अल्ट्रा प्रोसेस्ड भोजन का सेवन करते थे.

उनमें स्ट्रोक या एक अन्य प्रकार के सेरेब्रोवास्कुलर रोग से मरने की संभावना 52 प्रतिशत अधिक थी.

पहले से किए गए अध्ययनों में भी यह पता चला है कि अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड अधिक स्वादिष्ट होते हैं, जिससे लोगों को अधिक भूख लगती है. वहीं अधिक खाना खाने से वजन बढ़ने की संभावना भी बनी रहती है.


The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.

Follow and connect with us on Facebook and Linkedin

Go to main website, click here

Subscribe for daily free updates, click here

Click here to open form

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here