Blood Sugar test करते समय न करें ये 5 mistakes

वे लोग जो मधुमेह के लिए दवा नहीं लेते हैं, अगर वे नियमित रूप से ब्‍लड शुगर की जांच करते हैं, तो उनकी डायबिटीज हमेशा कंट्रोल में रहती है।

292
Laboratory Diabetes Blood sugar
Picture: Pixabay

Blood Sugar टेस्‍ट करते समय न करें ये 5 mistakes

यदि आपको मधुमेह है, तो यह जरूरी है कि आप अपने ग्लूकोज लेवल को बनाए रखने के लिए अपने ब्‍लड शुगर को प्रभावी ढंग से टेस्‍ट करना सीखें।

वे लोग जो मधुमेह के लिए दवा नहीं लेते हैं, अगर वे नियमित रूप से ब्‍लड शुगर की जांच करते हैं, तो उनकी डायबिटीज हमेशा कंट्रोल में रहती है।

इस बात में कोई शक नहीं है कि आपके रिजल्‍ट की सटीकता आपकी जांच की सटीकता से जुड़ी हुई है।

ब्‍लड शुगर टेस्‍ट करने के लिए मार्केट में कई प्रकार के एडवांस ग्लूकोमीटर उपलब्‍ध हैं।

लेकिन फिर भी लोग या तो उन्‍हें ठीक से उपयोग करना नहीं जानते या फिर कुछ छोटी-मोटी ऐसी गलती कर बैठते हैं, जिससे उनकी रीडिंग में एक बड़ा फर्क आ जाता है।

आपकी रीडिंग गलत न आए इसके लिए जरूरी है कि आप यहां बताई गई इन 5 बातों पर ध्‍यान दें

अगर प्‍यास लगी हो तो

यदि आप प्‍यासे हैं और शरीर में पानी की कमी है, तो यह आपके रीडिंग को प्रभावित कर सकता है। निर्जलीकरण से समग्र शरीर के कामकाज को प्रभावित करने का जोखिम भी होता है। शराब से बचें और सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त पानी पीते हैं।

खाने के तुरंत बाद शुगर चेक करना

अक्सर, लोग खाने के आधे घंटे या एक घंटे बाद ब्‍लड शुगर चेक कर लेते हैं, जो कि काफी जल्‍दी माना जाता है। भोजन या नाश्‍ता करने के तुरंत बाद परीक्षण करने से आपका शुगर लेवल हमेशा ही ज्‍यादा आएगा।

अगर आपको सही रिजल्‍ट पाना है, तो बेहतर होगा कि आप खाना खाने से पहले ही चेक कर लें। या फिर खाने के दो घंटे बाद तक प्रतीक्षा करें।


स्वास्थ्य सम्बन्धी अन्य आर्टिकल पढने के लिए यहाँ क्लिक करे


चेक करने से पहले हाथ न धुलना

स्वच्छता बनाए रखना बेहद जरूरी है क्‍योंकि इससे आपकी रीडिंग गलत आ सकती है। टेस्‍ट लेने से पहले अगर आपने एक कुछ खाया-पिया है और उसका पदार्थ आपके हाथों में लग गया, तो यह आपके टेस्‍ट रिजल्‍ट को काफी ज्‍यादा प्रभावित कर सकता है।

एक ही सुई का बार-बार इस्‍तेमाल

यह देखा गया है कि कई मरीज एक ही सुई को पांच से छह बार इस्‍तेमाल करते हैं या फिर अधिक समय तक इसे बदलने से बचते हैं। यह संक्रमण की संभावना को कई गुना बढ़ा सकता है। आपकी रीडिंग सही आए इसलिए इसे एक बार के इस्‍तेमाल के बाद बदल देना चाहिए।

टेस्‍ट उपकरण का गलत उपयोग

सबसे सटीक परिणाम प्राप्त करने के लिए, आपको अपने मीटर के लिए सही लैंसेट और टेस्‍ट स्ट्रिप्स का उपयोग करने की आवश्यकता है। यदि आप उनका पुन: उपयोग करते हैं, तो वह चुभाने पर आपको चोट भी पहुंचा सकते हैं।

यही कारण है कि आमतौर पर हर उपयोग के बाद उन्हें बदलने की सलाह दी जाती है। सटीक रिजल्‍ट पाने के लिए इन्‍हें ठीक प्रकार से स्‍टोर किया जाना भी सुनिश्चित करें और एक्‍सपायर होने पर इसका प्रयोग बंद कर दें।


The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.

Follow and connect with us on Facebook and Linkedin

Go to main website, click here

Subscribe for daily free updates, click here

For daily free updates on WhatsApp, click here

Subscribe here for daily updates
Loading

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here