Lungs: फेफड़ों को Virus से बचाने के लिए रोज करें ये 5 Breathing exercises

क्योंकि अगर आपको ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी तो यकीन मानिए ना आपका पैसा काम आएगा और ना ही आपकी पहचान

311
Health Yoga
Picture: Pixabay

Last Updated on May 10, 2021 by The Health Master

Lungs: फेफड़ों को Virus से बचाने के लिए रोज करें ये 5 Breathing exercises

C-19 काल में बिगड़ते हालातों के चलते आज लाखों लोग रोज संक्रमित हो रहे हैं। जबकि हजारों लोगों की जान रोजाना जा रही है।

आलम यह है कि ना तो अस्पताल में बेड है ना ही ऑक्सीजन। वहीं शमशान घाट में भी लंबी कतार दिखाई दे रही है। ऐसे में C-19 के नियमों का पालन करना जितना ज्यादा जरूरी है। उतना ही जरूरी है अपने फेफड़ों का ख्याल रखना।

क्योंकि अगर आपको ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी तो यकीन मानिए ना आपका पैसा काम आएगा और ना ही आपकी पहचान। इसलिए आज हमारे द्वारा बताई गई साधारण सी एक्सरसाइज करना शुरू करें, ताकि ऑक्सीजन की कमी की समस्या से बचे रहें।

चलिए जानते हैं ऐसी 5 एक्सरसाइज करने के तरीके के बारे में जो आपके शरीर में ऑक्सीजन लेवल को बढ़ा कर रखेंगी और आपके फेफड़ों को तंदुरुस्त बनाएंगी।

Health Yoga
Picture Pixabay

​नाड़ी शोधन प्राणायाम

नाड़ी शोधन आसन करने के बहुत से फायदे ना केवल फेफड़ों पर देखे गए हैं। बल्कि यह आपको तनाव एंग्जायटी को दूर करने का भी काम करता है। इसके अलावा यह शरीर की सफाई भी करता है।

साथ ही इसके जरिए आपका शरीर तंदुरुस्त रहता है। आइए जानते हैं नाड़ी शोधन प्राणायाम करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए आपको जमीन पर चौकड़ी मारकर बैठना है।
  • अब आपको धीरे धीरे धीरे सांस लेनी और छोड़नी है।
  • अब अपने दाहिने हाथ के अंगूठे से अपनी दाईं ओर की नाक को बंद करें और अपने दूसरे हाथ को अपने घुटनों पर रखें।
  • इसके बाद अपनी नाक के बाएं हिस्से से सांस लें और अब बाएं नाक को उंगली से बंद करें और दाहिने से सांस छोड़ें।
  • इसके बाद एक एक करके दोनों नाक की नथुनिया से यह प्रक्रिया दोहराएं।

​उज्जायी प्राणायाम

उज्जायी शब्द का मतलब होता है विजयी। यह शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया है। रेस्पिरेटरी सिस्टम से जुड़ा हुआ यह आसन आपको ध्यान केंद्रित करने और टेंशन रिलीज करने में भी मदद करता है।

इसके अलावा यह आपके शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है और आपके फेफड़े सही तरह से काम करें इसका ध्यान रखता है। आइए जानते हैं उज्जायी प्राणायाम करने का तरीका

  • इसके लिए सबसे पहले किसी आरामदायक जगह पर मेडिटेशन की किसी भी मुद्रा में बैठ जाएं और आंख बंद करें।
  • अब लंबा सांस ले और महसूस करें कि हवा आपके विंड पाइप के जरिए आ जा रही है।
  • इसके बाद जब आपको सांस लेना सहज महसूस हो तो अपने विंड पाइप को थोड़ा नैरों करें। इस दौरान सांस लेते हुए आवाज सुनाई देगी।
  • अब जब आपकी सांस गहरी होना चाहिए।
  • इसके बाद आप मुंह की जगह नाक से सांस लेना शुरू करें।
  • इसके बाद आप अपने फेफड़ों में सांस भरें और कुछ देर रोकें। फिर छोड़ दें। इस तरह उज्जायी प्राणायाम आसन पूरा हो जाएगा।

एब्डोमिनल ब्रीथिंग

इस आसन के जरिए आपके पूरे शरीर को बेहतर मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचता है। एब्डोमिनल ब्रीथिंग की वजह से आपकी हृदय के धड़कने की रफ्तार धीमी होने लगती है और आपका ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित होने लगता है। इसके अलावा यह स्ट्रेचिंग को भी आसान बनाता है और आपको तनाव मुक्त भी करता है। आइए जानते हैं एब्डोमिनल ब्रीथिंग करने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले आप जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं।
  • अब अपने एक हाथ को अपनी नाभि पर रखें और दूसरे हाथ को अपने हृदय पर।
  • इसके बाद नाक से सांस ले और देखें कि आपका पेट किस तरह की प्रक्रिया कर रहा है।
  • अब अपने पेट के मसल्स का इस्तेमाल करते हुए मुंह से सांस छोड़ें।

​कपालभाति प्राणायाम

कपालभाति प्राणायाम के अंदर तेजी से सांस छोड़ने की प्रक्रिया की जाती है। इसे बहुत सी बीमारियों में फायदेमंद माना जाता है। कपालभाति को कुछ लोग शरीर को साफ करने वाला आसन भी मानते हैं।

कहते हैं कि इसके जरिए रक्त भी साफ हो जाता है। वहीं जब आप इस आसन को करते हैं तो इससे आपके फेफड़ों के मसल्स भी मजबूत होते हैं। आइए जानते हैं कपालभाति प्राणायाम करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले आपको पदमासन की मुद्रा में बैठना होगा।
  • इसमें आपकी कम्र पूरी तरह सीधी रहे इस बात का खास ध्यान रखना होगा।
  • अब आपको अपनी नाक के जरिए गहरी सांस लेनी है। अब जैसे ही आप सांस छोड़े तो अपनी नाभि और पेट की रीढ़ की हड्डी की ओर खीचें।
  • ध्यान रहे इस दौरान आपको जल्दी से नाक से ही सांस छोड़नी है।
  • आप इस क्रिया को कम से कम 10 बार दोहराएं।

​पर्स्ड लिप ब्रीथिंग

इस आसन में आपको अपने नाक से सांस लेनी होती है और अपने होठों के जरिए छोड़नी होती है। अगर आप इस आसन को नियमित रूप से करते हैं तो इसके आपको कई फायदे होते हैं। अगर सांस लेने में दिक्कत होती हैं तो इस आसन की वजह से आप आसानी से सांस ले सकते हैं। यह आपको शांत करती है ताकि आप नियंत्रित रह कर सांस लें। आइए जानते हैं इसे करने का तरीका

  • इसके लिए सबसे पहले आप जमीन पर एक आरामदायक पोजीशन में बैठ जाएं।
  • इसमें आपकी कमर सीधी होनी चाहिए।
  • अब आपको अपने नाक से सांस लेनी है और कुछ सेकंड तक अपने पेट में हवा भरनी हैं ना की अपने फेफड़ों में।
  • अब अपने होठों को बाहर की ओर निकाल कर धीरे धीरे सांस छोड़नी है।
  • आप इसी तरह 5 से 10 बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

Also read:

Oxygen लेवल कम होने पर शरीर में दिखेंगे ऐसे लक्षण: Read

Diet में शामिल करें ये चीजें, Oxygen और Immunity रिकवरी होगी Fast

Oxygen cylinder को ज्यादा दिनों तक चलाने के लिए: Keep this in mind

Prone Position: ऑक्‍सीजन लेवल बढ़ाने के लिए उल्‍टा लेटना कितना फायदेमंद, जानें Experts की…

Pulse Oximeter: क्‍या है पल्‍स ऑक्‍सीमीटर डिवाइस: Let’s know

Immunity Booster Milk: इन्हें दूध में मिलाकर पिएं, तेजी से बढ़ेगी Immunity

Subscribe for daily free updates

Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner