Mustard Oil: सरसों के तेल के ये अद्बुत फायदे: जानिए कैसे करें इसका use

इसके अलावा, सफेद सरसों भी पाया जाता है जिसे ब्रैसिका हिर्टा कहा जाता है. सरसों के कच्‍चे तेल में भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 पाया जाता है.

196
Oil Liquid Food
Picture: Pixabay

Last Updated on June 28, 2021 by The Health Master

Mustard Oil: सरसों के तेल के ये अद्बुत फायदे: जानिए कैसे करें इसका use

Health Benefits Of Mustard Oil: सरसों का तेल (Mustard Oil) न सिर्फ खाने को स्वादिष्ट बनाता है बल्कि इसके सेवन से सेहत को भी कई फायदे होते हैं. उत्तर भारत में मुख्य रूप से इसका इस्तेमाल खाना बनाने के लिए किया जाता है. गर्म तासीर का यह तेल जीवाणुरोधी भी होता है.

आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल कई बीमारियों को दूर करने के लिए भी किया जाता है. सरसों का तेल दरअसल सरसों के पौधे के बीज से बनाया जाता है जो कई तरह का होता है. काले सरसों जिसे ब्रैसिका निग्रा कहते हैं जबकि भूरे रंग के भारतीय सरसों को ब्रैसिका जुनसिया कहा जाता है.

इसके अलावा, सफेद सरसों भी पाया जाता है जिसे ब्रैसिका हिर्टा कहा जाता है. सरसों के कच्‍चे तेल में भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 पाया जाता है.  इसके अलावा, इसमें ओमेगा-6 लिनोलेनिक एसिड, मोनोअनसेचुरेटेड फैटी एसिड होते हैं. b

इसके फायदों की बात करें तो यह त्वचा संबंधी समस्याओं से लेकर ज़ुकाम-खासी, मांसपेशियों में दर्द को ठीक करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है. आइए जानते हैं इसके अन्‍य फायदों (Benefits) के बारे में.

सरसों के तेल के कई फायदे

-यह पाचनतंत्र को ठीक रखता है और भूख बढ़ाने में भी मदद करता है. अगर आप भूख न लगने की समस्या से जूझ रहे हैं तो खाने में सरसों के तेल का इस्तेमाल शुरू कर दें.

– इसके नियमित सेवन से वजन घटाने में मदद मिलती है. इसकी मालिश कर भी शरीर की एक्स्ट्रा चर्बी कम कर सकते हैं.

– सरसों का तेल अस्थमा पीड़ित लोगों के लिए भी काफी असरदार है. सरसों के तेल में कपूर को डालकर गर्म करें और पीठ और सीने पर मालिश करें, अस्थमा में आराम मिलेगा.

-सरसों के तेल की मालिश से नवजात शिशु के शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं और ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है.

-जो लोग गठिये से परेशान हैं उन्हें सरसों के तेल में कपूर मिलाकर मालिश करनी चाहिए. इससे दर्द में काफी आराम मिलता है.

-अगर आप खांसी से परेशान हैं तो दवा की तरह 1 चम्मच सरसों का तेल पी लें. खांसी व गले के दर्द में काफी आराम मिलेगा.

-नाभि में सरसों का तेल डालने से फटे होंठ की समस्या ठीक हो जाती है.

– सरसों का तेल नाक में डालने से जुकाम में राहत मिलता है. एंटीबैक्टीरियल खूबियों से भरपूर इन तेल से नाक में खुजली और सूखापन जैसी समस्याओं में भी आराम मिलता है.

-सरसों के तेल को हल्दी से बने उबटन में मिलाकर लगाएं तो स्किन की ड्राईनेस खत्‍म होती है.

-दांत दर्द हो तो आप सरसों के तेल में हल्दी और नमक मिलाकर नियमित रूप से दांतों और मसूड़ों की मसाज करें. दांत दर्द की समस्या में आराम मिलेगा.

– यह बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करता है, ऐसे में रिफाइंड ऑयल की तुलना में सरसों के तेल में खाना पकाने से हृदय रोग की संभावना लगभग 70 फीसदी तक कम हो सकती है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. The Health Master इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Sleep: नींद की कमी से हो सकते है यें गंभीर परिणाम: Study

C-19 Delta Plus Variant: क्या हैं इसके लक्षण और बचने किए उपाए: Must read

Protein: शरीर में प्रोटीन की कमी: जानें क्‍या हैं इसके लक्षण: Must know

Exercise जो आपकी आंखों को बनाए रखेंगी हेल्दी और Attractive

Cosmetic Beauty guide for Men: Must read

Mud Therapy: हैरान कर देने वाले फायदे: Must know

Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn
Google-news

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner