Immunity बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये 4 Anti Viral Natural Foods

एंटी-वायरल फूड्स आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को सुपरचार्ज करेंगे और आपको कई तरह के संक्रमण से बचाएंगे

134
Doctor Medical Practice
Picture: Pixabay

Last Updated on September 12, 2021 by The Health Master

Immunity बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये 4 Anti Viral Natural Foods

How To Increase Immunity: चाहे वह सामान्य सर्दी हो या कोरोनावायरस का भयंकर खतरा अपने इम्यून स्वास्थ्य का निर्माण करना हमेशा एक अच्छा विचार होता है.

एक स्ट्रॉन्ग इम्यून सिस्टम आपको सभी प्रकार के वायरल, फंगल और जीवाणु संक्रमण से बचाती है और बीमारी के जोखिम को कम करती है. यह कुछ आसान इम्यूनिटी-बढ़ाने वाले टिप्स का पालन करना महत्वपूर्ण बनाता है.

इसलिए, संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए डाइट में कुछ एंटी-वायरल फूड्स को शामिल करना महत्वपूर्ण है. एंटी-वायरल फूड्स आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को सुपरचार्ज करेंगे और आपको कई तरह के संक्रमण से बचाएंगे.

एंटी वायरस गुणों से भरपूर फूड्स | Foods Rich In Anti Virus Properties

1. सौंफ के बीज

छोटे सौंफ के बीजों में ट्रांस-एनेथोल होता है, एक यौगिक जो दाद वायरस के खिलाफ काफी प्रभावी साबित हुआ है. यह एक मुलेठी के स्वाद वाला पौधा है जो आपकी इम्यूनिटी को बढ़ावा देने और शरीर में सूजन को कम करने और वायरल संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है.

सौंफ के बीज विटामिन ए, विटामिन सी और बीटा कैरोटीन से भी भरपूर होते हैं. इसके घटकों को उनके प्रतिरक्षा-बढ़ाने वाले गुणों के लिए जाना जाता है. सौंफ को डाइट में शामिल करने से साइनस और श्वसन प्रणाली साफ हो सकती है.

2. लहसुन

लहसुन का उपयोग कई प्रकार की स्वास्थ्य बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है. अध्ययनों से पता चलता है कि लहसुन इन्फ्लूएंजा ए और बी, एचआईवी, एचएसवी-1, वायरल निमोनिया और राइनोवायरस के खिलाफ प्रभावी हो सकता है.

लहसुन के शक्तिशाली स्वास्थ्य लाभ एलिसिन नामक एक यौगिक होते हैं, जो लहसुन को एक विशिष्ट गंध और मजबूत स्वाद देता है.

लहसुन क्वेरसेटिन और एलिसिन जैसे ऑर्गनोसल्फर यौगिकों का एक प्राकृतिक और समृद्ध स्रोत है जो एंटीवायरल संक्रमण गुणों को रोकता है और संक्रमण के जोखिम को कम करता है.

3. अदरक

अदरक एक सहायक सुपरफूड है जो विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य बीमारियों का इलाज करता है. इस जड़ जड़ी बूटी के प्रभावशाली एंटीवायरल, जीवाणुरोधी और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण एवियन इन्फ्लूएंजा, आरएसवी, और फेलिन कैलिसीवायरस (एफसीवी) में प्रभावी हो सकते हैं.

इसके अलावा, अदरक में जिंजरोल और जिंजरोन जैसे यौगिक भी होते हैं जो शरीर में वायरस के विकास को रोकते हैं. अदरक की चाय एक अद्भुत रिलैक्सेंट हो सकती हैं और तनाव सिरदर्द को दूर करने में भी मदद करती हैं.

4. हल्दी

भारतीय करी में आमतौर पर इस्तेमाल होने वाले पीले मसाले में औषधीय गुणों के साथ कई यौगिक होते हैं, जिनमें से सबसे महत्वपूर्ण करक्यूमिन है. हल्दी में शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी गुण और एंटीवायरल गुण होते हैं.

यह मसाला कुछ वायरस को खत्म करने और संक्रमण के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है. इस पोषक तत्व से भरपूर मसाले को अपने डाइट में शामिल करने के लिए आप हल्दी पाउडर या जड़ का उपयोग कर सकते हैं.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. The Health Master इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

What is Paleo Diet: What to eat and what not to eat ?

Dengue: डेंगू के लक्षणों की इस तरह करें पहचान: must know

Vitamin: ये vitamins और minerals पुरुषों के लिए रामबाण: Must read

When should one start using Anti-Ageing Products?

7 Benefits of including FACE MIST in your Skincare Regime

Long Life Secrets: लंबी उम्र जीने के लिए ये जरूरी 5 Tips

Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner