BP: दोनों हाथों में अलग-अलग Blood Pressure हो सकता है घातक: Expert

दोनों हाथों के ब्लड प्रेशर की माप में अगर अंतर बहुत ज्यादा है, तो यह खतरे की घंटी हो सकती है.

106
Bp Apparatus, Medical Devices
Picture: Pixabay

Last Updated on September 18, 2021 by The Health Master

BP: दोनों हाथों में अलग-अलग Blood Pressure हो सकता है घातक: Expert

Different Blood Pressure Reading: क्या कभी आपने सोचा है कि ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) की माप दोनों हाथ में अलग-अलग हो सकती है.

सुनकर थोड़ा आश्चर्य लग सकता है, लेकिन यह सच है. हालांकि दोनों हाथों के ब्लड प्रेशर की माप में मामूली अंतर हो, तो कोई खास फर्क नहीं पड़ता, लेकिन अगर अंतर बहुत ज्यादा है, तो यह खतरे की घंटी हो सकती है. 

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक डॉ मार्टिन स्कर (Martin Scurr ) कहते हैं, हमारे शरीर की रचना इस तरह से हुई है कि हमारे दाये हाथ के ब्लड प्रेशर की माप बाएं हाथ की तुलना में पांच प्वाइंट अधिक हो सकती है.

दाये हाथ में जो खून का बहाव है, वह सीधा बायीं धमनी (Aorta) से आता है. एऑर्टा शरीर की मुख्य धमनी है, जो हार्ट से ऑक्सीजन युक्त ब्लड लेकर आती है.

बाये हाथ में खून पहुंचने से पहले दो मुख्य धमनी के सहारे खून का बहाव दिमाग की ओर होता है. दिमाग में खून पहुचने के बाद ही शरीर के अन्य भागों में पहुंचता है. यही कारण है बाये हाथ तक खून के बहाव में दबाव कम हो जाता है.

किडनी और हार्ट पर सीधा असर

डॉ मार्टिन स्कर कहते हैं, दोनों हाथों में अगर बीपी (Blood Pressure) की माप में थोड़ा-बहुत अंतर है, तो कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन अगर ज्यादा है, तो यह कई बीमारियों की पूर्व सूचना हो सकती है.

आमतौर पर दोनों हाथों के बीपी में 10 प्वाइंट का अंतर 4 प्रतिशत लोगों में हो सकता है, जबकि 11 प्रतिशत लोग हाई ब्लड प्रेशर के शिकार हैं. अगर बीपी में अंतर ज्यादा है, तो यह किडनी और हार्ट खराब होने के पूर्व संकेत हो सकते हैं.

किडनी ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करती है. दूसरी ओर ब्लड प्रेशर ज्यादा होने से खून में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ सकती है, जो धमनियों में खून के आवागमन को रोकता है. इससे हार्ट में खून का बहाव कम हो सकता है.

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के संकेत

अगर बाये हाथ में बीपी बहुत ज्यादा है, तो इसका मतलब है कि धमनी (artery) में कोलेस्ट्रॉल बहुत ज्यादा हो गया है और यह धमनी को ब्लॉकेज करने के लिए तैयार है. इस ब्लॉकेज के कारण बीपी की वास्तविक माप नहीं आती है.

आमतौर पर बीपी की सामान्य माप 120/80 होती है, लेकिन अब 130 को भी सामान्य माने जाने लगा है.

डॉ स्कर कहते हैं, आर्टिरी में किसी तरह की बाधा उत्पन्न होना हार्ट अटैक और स्ट्रोक की आशंका को कई गुना बढ़ा देती है, इसलिए हमें हर हाल में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम रखना चाहिए.

7 Easy tips to manage Blood Pressure at home

Know your Skin type & Tips for it’s care accordingly

Metabolism boost करने भर से ही रहे Slim & Fit: बस ये करें Follow

Mobile और Laptop क्या आपको वक्त से पहले बना रहे है बूढ़ा ? Important…

First Aid Box में जरूर रखें इन 10 चीजों को: Very useful in emergency

8 Clean trendy food as per researchers

Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn
Google-news

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner