FDA Haryana: नशे की 2 लाख से अधिक गोलियों का मामला, मैडीकल स्टोर सील, FIR lodged

शिकायत मिलने पर कार्रवाई होगी। विभाग जल्द ही सभी मेडिकल स्टोरों की जांच भी करेगा।

688
FDA Haryana
FDA Haryana

Last Updated on December 11, 2021 by The Health Master

Karnal, Haryana: करनाल के कर्ण विहार में स्थित एक मैडीकल हॉल में पिछले दिनों 2 लाख 39 हजार से भी अधिक नशे की गोलियों की सप्लाई एक मैडीकल हॉल के संचालक को सप्लाई की गई।

बताया जा रहा है कि यह मैडीकल हॉल एक महिला सविता के नाम है और उसका पति भी मैडीकल स्टोर में संलिप्त रहता है।

इसका खुलासा करते हुए FDA Haryana करनाल की ड्रग कंट्रोलर अधिकारी रितु मेहला ने बताया कि बीती 7 दिसंबर को हिमाचल प्रदेश के एक ड्रग कंट्रोलर अधिकारी ने सोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें सूचना दी थी कि हिमाचल में निर्मित की गई गोलियां जो नशे की हैं उसे करनाल के एक मेडिकल स्ट्रोर संचालक को सप्लाई किया गया है।

इसके बाद State Drugs Controller Haryana, Manmohan Taneja एवम FDA Haryana के आयुक्त श्री राजीव रतन के आदेश पर मेडिकल स्टोर में छापा मारा लेकिन छापे के दौरान नशे की दवाईयां नहीं मिली।

इसके बाद संचालक सविता और उसके पति नितिन छाबड़ा को पूछताद के लिए बुलाया गया। लेकिन दोनों ही हाजिर नहीं हुए। बाद में इन्हें नोटिस दिया गया तो भेजे गए नोटिस में सविता ने यह स्वीकार किया कि दवाईयों की यह खेप बंसल फार्मा से इशु हुई थी। क्योंकि विभाग के पास बिल और आर्डर दोनों की कापी थी जिसमें सविता के हस्ताक्षर थे।

100 crore drug racket: Accused transported drugs in vehicle with Chandigarh number plate

Narcotics Drugs: Team raids Zirakpur Pharmaceuticals firm

अधिकारियों ने की लाइसैंस कैंसल करने की सिफारिश, 4 के खिलाफ मामला दर्ज

पूछताछ के दौरान सविता ने यह स्वीकार किया कि यह हस्ताक्षर उसके हैं। इसके बाद विभाग ने उनसे दवाईयों की बिक्री का रिकार्ड मांगा। वह रिकार्ड भी ये उपलब्ध नहीं करवा पाए।

बाद में सविता के पति नीति छाबड़ा ने यह कबूल किया कि उसे 1 लाख रुपए का लालच दिया गया था और यह दवाई उनके ही कर्मी राजीव ने बाहर से ही सेल कर दी थी।

अधिकारी रितु मेहला ने खुलासा करते हुए कहा कि विभाग ने अब 4 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है और इसके साथ-साथ मेडिकल स्टोर को सील कर दिया गया है।

उन्होंने विभाग से सिफारिश की है कि मेडिकल स्टोर संचालक का लाइसेंस केसिल किया जाए। महिला अधिकारी रितु मेहला ने कहा कि करनाल में नशे की खेप किसी भी तरह से स्वीकार नहीं की जाएगी।

शिकायत मिलने पर कार्रवाई होगी। विभाग जल्द ही सभी मेडिकल स्टोरों की जांच भी करेगा।

a

Govt approves 8 Medical Device companies under PLI scheme

Medical treatments may get more expensive for you from next year

Increase in Pharmacy colleges to meet rising demand of Medical Stores

Pharmexcil is seeking candidates for the role of Director

IPC flags safety alert against NSAID Diclofenac

Narcotics Drugs: Team raids Zirakpur Pharmaceuticals firm

Sun Pharma gets CDSCO panel nod for FDC Brinzolamide, Timolol, Pot…

Procedure for registration of Medical Devices: CDSCO

Procedure to obtain license for Commercial Testing Laboratories

Latest Notifications regarding Pharmaceuticals

YouTube Icon

For informative videos by The Health Master, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon
Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn
YouTube Icon
Google-news

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner