Multitasking: मल्टीटास्किंग से ब्रेन को कैसे होता है नुकसान: Must know

शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि जितने अधिक लोग मल्टीटास्किंग करते हैं, उतनी ही अधिक संभावना है कि वे बेहिवियरल डिस्ट्रेक्शन की चपेट में आ जाएंगे.

74
Laptop Computer Online

Last Updated on July 15, 2022 by The Health Master

Multitasking Side Effects

वर्तमान समय में मल्टीटास्क करने वाले लोगों को काफी अहमियत दी जाती है. प्रोफेशनल लाइफ में मल्टीटास्किंग को एक बढ़िया स्किल माना जाता है.

कुछ लोग मानते हैं कि मल्टीटास्किंग उनकी लाइफ के लिए काफी अच्छी साबित होगी. आपको जानकर हैरानी होगी कि मल्टीटास्किंग करने वाले लोग अपनी हेल्थ के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं.

अब तक कई स्टडीज में यह बात सामने आ चुकी है कि मल्टीटास्किंग से हमारी फिजिकल और मेंटल हेल्थ बुरी तरह प्रभावित होती है.

खासतौर से यह ब्रेन को काफी नुकसान पहुंचाता है. मेंटल हेल्थ प्रभावित होने पर आपकी फिजिकल हेल्थ भी बुरी तरह बिगड़ सकती है. कुछ चौंकाने वाली बातें आपको जान लेनी चाहिए.

Also read: Brain Health: रोजाना की इन activities से अपने ब्रेन को रख सकते हैं healthy और active

क्या कहती हैं स्टडी?

साइंटिफिक अमेरिकन की रिपोर्ट के मुताबिक करीब 2 साल पहले मल्टीटास्किंग को लेकर एक स्टडी पब्लिश हुई थी, जिसमें पता चला कि मीडिया मल्टीटास्किंग या डिजिटल व स्क्रीन-आधारित मीडिया के एक साथ कई फॉर्मेट से जुड़ना युवाओं के लिए डिस्ट्रेक्शन का कारण बन रहा है.

इसकी वजह से कम उम्र के लोगों की याददाश्त कमजोर हो रही है. लंबे समय तक ऐसा करने से उनकी मेंटल हेल्थ बुरी तरह प्रभावित हो रही है.

इससे पहले साल 2009 में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में इसे लेकर एक स्टडी की गई थी. इसमें पाया गया था कि मीडिया मल्टीटास्किंग और कमजोर मेमोरी के बीच सीधा संबंध होता है. इससे फिजिकल हेल्थ भी काफी हद तक प्रभावित होती है. 

मल्टीटास्किंग से हो सकती हैं ये परेशानियां

साइकोलॉजी टुडे के अनुसार मल्टीटास्किंग हमारे ब्रेन को नुकसान पहुंचाती है. हाल के एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग मीडिया मल्टीटास्कर थे, उनके दिमाग के ग्रे मैटर में कमी आई थी.

खासतौर से संज्ञानात्मक नियंत्रण और इमोशंस को लेकर काफी बदलाव देखने को मिले. इससे याददाश्त संबंधी समस्याएं हो सकती हैं. 2016 के इस अध्ययन में पाया गया कि क्रोनिक मीडिया मल्टीटास्कर्स की मेमोरी में कमजोरी देखने को मिली.

शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि जितने अधिक लोग मल्टीटास्किंग करते हैं, उतनी ही अधिक संभावना है कि वे बेहिवियरल डिस्ट्रेक्शन की चपेट में आ जाएंगे.

इसके अलावा स्मार्टफ़ोन मल्टीटास्किंग और ध्यान भंग होने से आपकी पर्सन लाइफ भी काफी हद तक प्रभावित हो सकती है. आपके रिश्ते कमजोर हो सकते हैं.

Antibiotic resistance: Read this before taking any medications

Blood Transfusion: किसी को खून चढ़ाने की ज़रूरत क्यों पड़ती है? इन बातों का रखे ध्यान: Must read

New Omicron subvariant BA.2.75 – WHO explains severity

40 की उम्र के बाद क्यों जरूरी हो जाते हैं ये Multivitamin ? Lets know

Understanding the timelines for Kidney failure and related treatment

Vitamin-D Deficiency: इस तरह के लोगों में बढ़ जाता है विटामिन-डी की कमी का ख़तरा – Must read

Mobile और laptop के रेडिएशन से स्किन को नुकसान, कैसे करे बचाव: Must know…

15 quick Skincare facts we must know

High BP: Surprisingly, This commonly used drug is linked to risk of high BP

Test: यह टेस्ट बताएगा कितने साल ज़िंदा रहेंगे आप – Must know

For informative videos on consumer awareness, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon

For informative videos by The Health Master, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon
Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn
YouTube Icon
Google-news

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner