Self Skincare रूटीन से अपनी त्वचा को निखारने के 6 तरीके

120
Applying cream Cosmetics
Picture: Pixabay

Last Updated on July 1, 2023 by The Health Master

सेल्फ स्किनकेयर

महामारी के दौरान स्व-त्वचा देखभाल (Self skincare) की दिनचर्या का महत्व बढ़ गया है क्योंकि इसके लिए बाहर जाना कई लोगों की प्राथमिकता सूची में नहीं है।

घर पर प्रत्येक चरण की आवृत्ति, यानी दैनिक या साप्ताहिक, को ध्यान में रखते हुए स्वस्थ त्वचा देखभाल दिनचर्या का पालन किया जा सकता है। स्वस्थ त्वचा और प्रसन्न मन के लिए आदत के रूप में सूचीबद्ध चरणों का पालन करें:

सफाई:

चेहरे की सफाई से उस पर मौजूद किसी भी गंदगी या तेल से छुटकारा पाने या मेकअप हटाने में मदद मिलती है। जेल फेसवॉश और साबुन आमतौर पर फेस क्लींजर का उपयोग किया जाता है।

बाजार में उपलब्ध अन्य नए क्लींजर हैं – फोम वॉश, ऑयल क्लींजर, क्लींजिंग लोशन, पाउडर क्लींजर आदि।

वाटरप्रूफ मेकअप को साफ करने के लिए विभिन्न उत्पादों जैसे मेकअप रिमूविंग बाम, तेल और बाई-फेज माइसेलर वॉटर आदि का उपयोग किया जा सकता है। वे हमारी त्वचा से अतिरिक्त तेल निकाले बिना जिद्दी मेकअप को हटाकर चेहरे को साफ करते हैं।

Frequency: अपना चेहरा दिन में कम से कम दो बार (सुबह और सोने से पहले) या जब भी आवश्यक हो साफ करें।

एक्सफोलिएशन:

एक्सफोलिएशन त्वचा को मुलायम और आंतरिक रूप से युवा बनाने में मदद करता है। यह मृत कोशिकाओं को हटाता है जो त्वचा के कायाकल्प में मदद करता है और इसकी बनावट और जलयोजन में सुधार करता है।

बाजार में केमिकल और फिजिकल दोनों तरह के एक्सफोलिएटर उपलब्ध हैं। केमिकल एक्सफोलिएटर्स में एएचए, बीएचए, ग्लाइकोलिक एसिड आदि केमिकल का उपयोग करके एक्सफोलिएशन किया जाता है, इनका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से सावधानी से करना चाहिए।

फिजिकल एक्सफोलिएटर्स में, एक्सफोलिएशन बादाम, अखरोट के छिलके का पाउडर या एक्सफोलिएशन बीड्स, कीवी बीज आदि जैसे स्क्रब का उपयोग करके किया जाता है।

त्वचा पर किसी भी प्रकार की कठोरता से बचने के लिए उंगलियों का उपयोग करके नरम-गोलाकार स्ट्रोक का उपयोग करके एक्सफोलिएशन या स्क्रबिंग की जानी चाहिए।

Frequency: आपकी त्वचा के प्रकार के आधार पर हर हफ्ते एक या दो बार अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करें।

टोनिंग:

टोनिंग एक ऐसा कदम है जिसे ज्यादातर लोग अपनी दिनचर्या में छोड़ देते हैं। यह प्रमुख कदमों में से एक है जिसे दैनिक त्वचा देखभाल व्यवस्था में बिना किसी असफलता के पालन किया जाना चाहिए क्योंकि यह त्वचा के पीएच स्तर, छिद्रों की सिकुड़न, टोनिंग को बनाए रखने में मदद करता है और चेहरे की विभिन्न समस्याओं जैसे मुँहासे, निर्जलीकरण, सुस्ती, झुर्रियों आदि को ठीक करने में मदद करता है।

अल्कोहल मुक्त फेस मिस्ट का उपयोग करें जो न केवल जलयोजन प्रदान करता है बल्कि आपकी त्वचा संबंधी चिंताओं को भी दूर करता है। आप भाप आसुत शुद्ध पुष्प जल जैसे गुलाब या लैवेंडर मिस्ट को अन्य मिस्ट के साथ मिलाकर भी उपयोग कर सकते हैं जो आपकी विशेष त्वचा के प्रकार के अनुरूप हो।

Frequency: त्वरित जलयोजन की आवश्यकता होने पर प्रतिदिन दो बार या दिन में किसी भी समय अल्कोहल मुक्त मिस्ट या टोनर का उपयोग करें।

मास्किंग और पैकिंग:

एक्सफोलिएशन के बाद त्वचा को मास्क करना और पैक करना जरूरी है। इसलिए जब आप अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करें तो टोनर का उपयोग करना न भूलें, इसके बाद क्ले मास्क या पैक लगाना चाहिए।

यह त्वचा के विषहरण, मरम्मत और शुद्धिकरण में मदद करता है और मजबूत और चमकदार दिखने वाली त्वचा के लिए त्वचा को विभिन्न पोषक तत्वों और ह्यूमेक्टेंट से पैक करता है।

मास्क कई प्रकार के होते हैं जैसे – जेल मास्क, शीट मास्क या क्ले मास्क जैसे – रासौल क्ले, डेड सी क्ले, चारकोल, मुल्तानी मिट्टी, काओलिन क्ले आदि। इन्हें अपनी त्वचा के प्रकार के अनुसार बुद्धिमानी से चुनें।

टिप:- क्ले स्क्रब मास्क खरीदें क्योंकि यह क्लींजर, एक्सफोलिएटर और मास्क के रूप में काम करेगा। यह किफायती 3 इन 1 उत्पाद होगा। सबसे पहले अपने चेहरे को सर्कुलर मोशन में साफ करें और स्क्रब करें और फिर इसे अपनी त्वचा पर काम करने के लिए 5 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें और थपथपा कर सुखा लें। फेस मिस्ट लगाकर फॉलो करें।

Frequency: हर हफ्ते विशेष रूप से एक्सफोलिएशन के बाद दो बार फेस मास्क लगाएं।

सीरम से सक्रिय करना:

फेस सीरम के साथ अपनी त्वचा को रोजाना सक्रिय करने से त्वचा कोशिकाओं को सक्रिय करने और पुनर्जीवित करने में मदद मिलती है और त्वचा संबंधी विभिन्न चिंताओं को पूरा किया जाता है।

यह त्वचा की गहरी परतों में प्रवेश करके त्वचा कोशिकाओं को फिर से जीवंत करता है और दृश्यमान प्रभावकारिता और परिणाम देता है। फेस सीरम पानी, तेल, जेल, सिलिकॉन या इमल्शन बेस में आते हैं।

जेल और इमल्शन बेस सीरम को दूसरों की तुलना में पसंद किया जाता है क्योंकि वे गैर-चिपचिपे होते हैं और मॉइस्चराइजेशन भी प्रदान करते हैं (यह त्वचा देखभाल दिनचर्या के अगले चरण को कम कर सकता है जो मॉइस्चराइजिंग है)

Frequency: बिस्तर पर जाने से पहले रोजाना चेहरे पर सीरम लगाएं।

मॉइस्चराइजिंग:

मॉइस्चराइजिंग त्वचा को पोषण देने में मदद करता है, लोच बढ़ाता है और ट्रांस एपिडर्मल वॉटर लॉस (TEWL) को रोकता है। TEWL परिपक्व दिखने वाली, निर्जलित और सुस्त दिखने वाली त्वचा की ओर ले जाता है। प्राकृतिक रूप से बेदाग त्वचा पाना ईश्वर का उपहार है, लेकिन इसे मॉइस्चराइज़ न करके इसे बर्बाद न करें।

Frequency: प्रतिदिन दो बार मॉइस्चराइज़ करें- सुबह और बिस्तर पर जाने से पहले।

दैनिक उचित त्वचा देखभाल दिनचर्या का पालन करने से आपकी त्वचा बेदाग दिखेगी। इससे आपकी जवान दिखने वाली त्वचा की उम्र बढ़ जाएगी। तो, अब अपना निवेश करें

For informative videos by The Health Master, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon

For informative videos on Medical Store / Pharmacy, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon

For informative videos on the news regarding Pharma / Medical Devices / Cosmetics / Homoeopathy etc., click on the below YouTube icon:

YouTube Icon

For informative videos on consumer awareness, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon
Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn
YouTube Icon
Google-news