5 प्राकृतिक तरीके immunity को बढ़ाने के लिए: Must read

च्यवनप्राश के कई फायदे होते हैं और यह खासकर घातक C-19 के खिलाफ इम्यूनिटी (Immunity) को बढ़ाने में सहायक होता है।

127
5 प्राकृतिक तरीके immunity को बढ़ाने के लिए: Must read

Last Updated on August 25, 2023 by The Health Master

Immunity

अच्छी इम्यूनिटी (Immunity) सिस्टम संक्रमणों को दूर रखने के लिए महत्वपूर्ण है। विशेष रूप से C-19 महामारी के समय, हमें स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त उपाय अपनाने चाहिए।

आयुर्वेद, एक पर्यावरणीय और चिकित्सात्मक विकल्प चिकित्सा प्रणाली, इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए कुछ उत्कृष्ट तकनीकों, जड़ी-बूटियों और मसालों की सिफारिश करता है।

1. हल्दी वाला दूध (गोल्डन मिल्क):

दिन में एक कप हल्दी वाले दूध का सेवन आपकी इम्यूनिटी (Immunity) के लिए चमत्कार करने में माना जाता है। हल्दी में मजबूत एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और यह सेलों के सूजन को भी रोकता है।

साथ ही, इसमें एक यौगिक कुर्कुमिन होता है जो मस्तिष्क को बढ़ने में मदद करता है। 150 मिलीलीटर गरम दूध में आधा चम्मच हल्दी पाउडर एक या दो बार दिन में सेवन के लिए सुझाया जाता है।

2. नस्या:

कुछ बूंदें घी, तिल का तेल या नारियल का तेल अपनी नाक में डालने की सरल प्रैक्टिस से संक्रमण के प्रवेश को रोका जा सकता है। नस्या को खाली पेट एक घंटे पहले स्नान करने से किया जा सकता है।

सिर को पीछे खींचकर लेटें और प्रत्येक नाक में 4-5 बूंदें डालें। नस्या एक प्राचीन प्रैक्टिस है लेकिन यह अन्य देशों में लोकप्रिय होने के बाद पुनर्वृत्ति में है।

आयुर्वेद विशेषज्ञ कहते हैं कि यह एक उत्कृष्ट तरीका है जो इम्यूनिटी (Immunity) को बढ़ाने में मदद करता है क्योंकि यह नाक की पासागली को स्पष्ट करके संक्रमणों को दूर करने में मदद करता है।

3. तेल खिचड़ी थेरेपी:

तेल खिचड़ी एक देसी तरीका है जिससे आप मुंह की सफाई करके बैक्टीरिया को हटा सकते हैं और मौखिक स्वास्थ्य को बनाए रख सकते हैं।

यह आयुर्वेदिक प्रैक्टिस है, जिसमें खाने के तेल को मुंह के चारों ओर घूमाया जाता है और फिर निकाल दिया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार, तेल खिचड़ी का अभ्यास आपकी मौखिक और नाकिक इम्यूनिटी (Immunity) को सुधारता है।

यह म्यूकस मेम्ब्रेन को आर्द्रता प्रदान करता है जिससे आपको बैक्टीरिया, वायरस और कवक के हमले से बचाता है। यह बुरी सांस और दांतों को बचाने में भी मदद कर सकता है।

4. हर दिन च्यवनप्राश का सेवन करें:

च्यवनप्राश के कई फायदे होते हैं और यह खासकर घातक C-19 के खिलाफ इम्यूनिटी (Immunity) को बढ़ाने में सहायक होता है।

यह और भी बेहतर काम करता है अगर घर पर तैयार किया जाए, आवला और तीस अन्य जड़ी-बूटियों का मिश्रण गुड़ के साथ बनाया जाए। घर में बनी च्यवनप्राश को समय-समय पर दिन में कम से कम दो बार सेवन किया जा सकता है।

5. कढ़ा या जड़ी-बूटी वाली चाय:

तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, शुंठी और मुनक्का जैसी कई मसालों को मजबूत एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के साथ हर्बल चाय या कढ़े की रूप में सेवन किया जा सकता है, दिन में एक या दो बार। आप चखणे के लिए गुड़ या नींबू का रस भी डाल सकते हैं।

समापन:

ये प्राकृतिक तरीके आपकी इम्यूनिटी (Immunity) को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं और संक्रमणों से बचाने में सहायक साबित हो सकते हैं। याद रखें कि इन उपायों का नियमित अनुसरण करने से ही आपकी स्वास्थ्य को बेहतरीन फायदे मिलेंगे।

Translated in Hindi by The Health Master

इम्यूनिटी (Immunity) पर FAQ: आपके सवालों के जवाब

सवाल: इम्यूनिटी (Immunity) क्या है?
उत्तर: इम्यूनिटी एक प्रकार की रक्षा प्रणाली है जो वायरस और बैक्टीरिया जैसे हानिकारक जीवाणुओं के खिलाफ शरीर की सुरक्षा करती है।

सवाल: इम्यूनिटी (Immunity) कैसे काम करती है?
उत्तर: शरीर वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने के लिए विभिन्न उपकरणों का उपयोग करता है: तेज़ लेकिन सामान्य उपकरण (सहज इम्यूनिटी) और विशिष्ट उपकरण जो पिछले जीवाणुओं को याद रखते हैं (अभिजात इम्यूनिटी)।

सवाल: एंटीबॉडीज़ क्या होती हैं?
उत्तर: एंटीबॉडीज़ वे छोटे सैनिक होते हैं जिन्हें शरीर वायरसों और बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ने के लिए बनाता है। वे पिछले दुश्मनों को याद रखते हैं और शरीर को उन्हें पहचानने और हराने में मदद करते हैं।

सवाल: क्या मैं अपनी इम्यूनिटी (Immunity) को मज़बूत कर सकता हूँ?
उत्तर: हां, आप उसे सुपरचार्ज नहीं कर सकते, लेकिन आप अच्छे खानपान, व्यायाम, पर्याप्त नींद और तनाव को संभालकर मदद कर सकते हैं।

सवाल: क्या पूरक सहायक फायदेमंद होते हैं?
उत्तर: कुछ विटामिन और खनिज महत्वपूर्ण होते हैं, लेकिन बहुत सारे पूरक सेहत के लिए हानिकारक हो सकते हैं। सबसे अच्छा है कि आप पोषण को भोजन से ही प्राप्त करें।

सवाल: क्या बीमार होना मुझे मजबूत बनाता है?
उत्तर: हल्की बीमारियाँ कुछ इम्यूनिटी बनाने में मदद कर सकती हैं, लेकिन वैक्सीनेशन एक सुरक्षित तरीका है जिससे आपकी रक्षाओं को मजबूती मिल सकती है बिना गंभीर बीमार होने के।

सवाल: वैक्सीन क्या होती है?
उत्तर: वैक्सीन एक छोटी सी जीवाणु की खोल होती है जो आपके शरीर को सिखाती है कि वह उसे ख़त्म कैसे कर सकता है बिना आपको बीमार करती है।

सवाल: वैक्सीनेशन से इम्यूनिटी (Immunity) में कैसे मदद मिलती है?
उत्तर: वैक्सीनेशन से आपकी इम्यून प्रणाली को विशिष्ट जीवाणुओं को याद रखने की सीख मिलती है। अगर बाद में वो जीवाणुएँ मिलती हैं, तो आपके शरीर को उनके खिलाफ तेज़ी से और बेहतर लड़ने की क्षमता मिलती है।

For informative videos by The Health Master, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon

For informative videos on Medical Store / Pharmacy, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon

For informative videos on the news regarding Pharma / Medical Devices / Cosmetics / Homoeopathy etc., click on the below YouTube icon:

YouTube Icon

For informative videos on consumer awareness, click on the below YouTube icon:

YouTube Icon
Telegram
WhatsApp
Facebook
LinkedIn
YouTube Icon
Google-news