10.86 लाख की दवाइयों और कॉस्मेटिक सामानों के साथ तस्कर को दबोचा

Smuggler arrested with medicines and cosmetics worth rs. 10.86 lakh

191
Medicines
Picture: Pixabay

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तस्करी को नाकाम करते हुए भारी मात्रा में दवाइयां और कॉस्मेटिक सामानों की खेप जब्त किया है। इस सिलसिले में एक तस्कर को भी गिरफ्तार किया गया है। जब्त दवाइयों व कॉस्मेटिक सामानों की अनुमानित कीमत करीब 10.86 लाख रुपये है, जिसकी बांग्लादेश में तस्करी की कोशिश की जा रही थी।

अधिकारियों ने बताया कि तस्करी के बारे में प्राप्त एक विशिष्ट सूचना पर कार्य करते हुए  सीमा चौकी गुनारमठ और कल्याणी में तैनात 158वीं बटालियन के जवानों ने 21 जुलाई की शाम में इच्छामती नदी के पास कल्याणी (हलदरपारा) गांव में तलाशी अभियान चलाया। शाम लगभग 7 बजे बीएसएफ जवानों ने हलदरपारा में तस्करों की संदिग्ध गतिविधियों को देखा। वहीं, जवानों को देख तस्कर तितर-बितर हो गए और अलग-अलग दिशा में भागने लगे।

येँ भी पढ़ें  : मेडिकल स्टोर पर रेड, 70 हजार की दवाइयां बरामद

बीएसएफ जवानों ने पीछा कर एक तस्कर को पकड़ने में कामयाब रहे। पकड़े गए तस्कर का नाम रमेश हलधर (50), ग्राम- हल्दरपारा, थाना- पेट्रापोल, जिला- उत्तर 24 परगना है। पूछताछ में उसने बताया कि बड़ी संख्या में तस्करी का सामान गांव में विभिन्न स्थानों पर छिपा कर रखा हुआ है। इसके बाद बीएसएफ ने तुरंत एक टीम गठित कर आरोपित को साथ लेकर उसके बताए स्थान पर गई, जहां पर तस्करी की खेप छुपाई गई थी।

उक्त स्थानों की तलाशी लेने पर जवानों ने विभिन्न प्रकार की दवा और कॉस्मेटिक सामानों को बरामद किया, जिसका बाजार मूल्य लगभग 10,86,305 रुपये है। तस्कर ने पूछताछ में यह भी बताया कि वह स्थानीय फिरोजपुर (हलदरपारा) का निवासी हैं और वह अन्य 10 लोगों के साथ तस्करी की गतिविधियों मे शामिल है। सभी तस्कर बनगांव बाज़ार से तस्करी की सामानों को खरीदते है और उन्हें सीमावर्ती गांव के विभिन्न स्थानों पर घास/ झाड़ियों के अंदर और आस-पास खाली घास की झोपड़ियों में स्टॉक करते है।

बाद मे वे प्लास्टिक की थैलियों में इन सामानों को पैक कर बांग्लादेश में तस्करी कर देते है। बीएसएफ ने आगे की कार्रवाई के लिए जब्त सामानों के साथ पकड़े गए तस्कर को पेट्रापोल पुलिस स्टेशन को सौंप दिया है।

The Health Master is now on Telegram. For latest update on health and Pharmaceuticals, subscribe to The Health Master on Telegram.